You are here

True Ghost Story In Hindi । रूप बदलने वाली चुड़ैल

True Ghost Story In Hindi । रूप बदलने वाली चुड़ैल


रूप बदलने वाली चुड़ैल। True Ghost Story, scary ghost stories
true ghost story

Horror Story In Hindi,


दोस्तों DARKSIDE-DEVILS-Real Ghost Stories में एक फिर आपका स्वागत है, आज मैं एक और 

नई कहानी आप सभी के साथ शेयर करने जा रहा हु ये कहानी शंभु अंकल और उनकी पत्नी के साथ घटी 

सच्ची दिल दहला देनी वाली घटना पर आधारित है जैसा कि मैंने पहली कहानी में बताया था कि मेरे पापा ने 

मुझे अपनी नौकरी के दौरान भूतप्रेत से सम्बंधित बहुतसी सच्ची घटनाये सुनाई है उनमे से ये भी एक सत्य

घटना है।


कहानी की शुरुवात फिर वहीं भिश्रामपुर से होती है जो झारखण्ड राज्य में एक छोटासा गाँव है जिसमे 

सरकारी कॉलोनी बनी हुई है यहाँ दूरदूर से कोल् इंडिया में काम करने आये हुए वर्कर्स को कमरे दिए गए है,

पापा के पड़ोसी राबुला अंकल, रमेश अंकल और शंभु अंकल थे वैसे तो और भी लोग उस कॉलोनी में रहते थे 

परन्तु ये कहानी इनके इर्द गिर्द है,


शंभु अंकल odhisa के रहने वाले थे उन्हें 1976 में कोल् इंडिया में सरकारी नौकरी मिली जिसमे वह एक
कोल् ट्रांसपोर्ट करने वाली गाड़ियो में एक ड्राइवर की नौकरी करते थे, वह यहाँ अकेले रहते थे फिर कुछ 
समय बाद उनकी पत्नी भी उनके साथ रहने यहाँ गयी थी


Horror Story In Hindi,



ये 1977 की बात है शंभु अंकल की पत्नी गर्भवती थी और डिलीवरी का दिन भी नजदीक था, शंभु अंकल 

अपनी पत्नी का चेकअप करवाने मांडर अस्पताल जो रांची शहर के पास पड़ता है वहाँ ले गए डॉक्टर्स ने चेक

अप के बाद उनकी पत्नी को एडमिट कर लिया शंभु अंकल को एमर्जेन्सी काम के कारण वापस जाना पड़ा 

जाने से पहले उन्होंने अपनी साली को बुलवा लिए जो रांची शहर में रहती थी।
                                                                                            
रात को वापस भिश्रामपुर की ओर सरकारी गाड़ी से निकल पड़े, रास्ता सुनसान और घने जंगलो से घिरा हुआ

था, रास्ते में एक जगह उनको ऐसा लगा कि गाड़ी के सामने से कोई चीज गुजरी हो परन्तु वहाँ कोई भी नहीं था 

जब शंभु अंकल घर पहुँचते है तो ये देख के अश्चार्जनक हो जाते है कि उनकी पत्नी पहले से ही घर में पहुँची हुई

थी संभु अंकल गुस्से में कहते है मैं तुम्हे अस्पताल में एडमिट करवा के आया था और तुम मेरे से पहले यहाँ 

कैसे  गयी उनकी पत्नी ने कहा मुझे डॉक्टर ने छुट्टी दे दी थी,


इसलिए मैं यहाँ गयी अगले सवेरे अपनी पत्नी को घर पर पा कर शंभु अंकल हैरान हो जाते है शाम को 7 

या 8 बजे फिर उनकी पत्नी घर लौट आती है अगले सवेरे फिर उनकी पत्नी घर में नहीं होती है शंभु अंकल को 

कुछ समझ नहीं रहा था कि ये मामला क्या है, यह सारा मामला अपने पड़ोसी रमेश अंकल को बताते है,


रमेश अंकल ने बिना समय बर्बाद किये उसी समय शंभु अंकल को बस से मांडर अस्पताल ले गए वहाँ अपनी
पत्नी को पा कर आग बबूला हो गए और जोरजोर से चिल्लाने लगे और कहने लगे सवेरे घर से चली जाती हो
और शाम को फिर घर जाती हो तेरा दिमाग खराब है क्या ? 


उनकी पत्नी ने कहा मैं तो यहाँ एडमिट हु, आप ने ही मुझे यहाँ एडमिट करवाया था तो मैं घर क्यों जायूँगी।

Bhoot Ki Sachi Kahani,


भिश्रामपुर घर लौटते समय आधे रास्ते शंभु अंकल को पता नहीं क्या हो जाता है कि वे बस से नीचे उत्तर कर 

जंगल की ओर भागने लगते है रमेश अंकल के साथ मिल कर कुछ लोगों ने बड़ी मुश्किल से उन्हें पकड़ा और 

रसी से बाँध कर घर ले आये, घर पर सारा मामला पापा और राबुला अंकल को जब पता चला,


राबुला अंकल भिश्रामपुर के पास किसी गाँव से झाड़फूंक करने वाले मौलवी जी को ले आते है परन्तु मौलवी

जी ने शंभु अंकल को देखते ही कहा ये एक बुरी शक्ति है जो मेरे बस की बात नहीं है आप गोलापूरी नाम के

गाँव से झाड़फूंक में माहिर मौलवी जी को ले आये वह इन्हे ठीक कर सकते है और इस बुरी शक्ति से पीछा 

छुड़वा सकते है।


पापा और राबुला अंकल गोलापूरी से मौलवी जी को ले आते है, मौलवी जी शंभु अंकल को देखते ही कहते है

आप मुझे सही समय पर ले आये हो चुड़ैल इसको मारने वाली है क्योकि उसको पता चल गया था कि शंभु को 

शक हो गया है कि चुड़ैल उसकी पत्नी का रूप बना के आती है, एक बात और ये बहुत दिनों पहले से ही
इसकी पत्नी का रूप ले के आती जाती थी


फिर मौलवी जी ने झाड़फूंक करके शंभु अंकल को ठीक किया और बाजू में एक ताबीज बाँध दिया और कहा


आज रात 11बजे वह फिर तेरी पत्नी का रूप ले के आयेगी पर बेटा तुम डरना मत और रोज की तरह व्यवहार 

करना जैसे तुम्हे कुछ भी नहीं पता और हाँ चुड़ैल तेरे बाजू में बंधी ताबीज को देख कर दूर फेकने को कहेगी
पर बेटा तुम इसे फेकना मत क्योंकि जब तक ये ताबीज तेरे बाजू में बंधी है चुड़ैल तुझे छू भी नहीं पायेगी।


Bhoot Ki Sachi Kahani,



मौलवी जी ने एक सुईधागा का रोल मंगवाया और उसपे झाड़फूंक करके धागा सुई में फिरो देते है और

कहते है किसी भी तरह तुम इसे उसके कपड़े में लगा देना मैं रात राबुला के घर रुका हु, तुम डरना मत, रात

ठीक 11 बजे चुड़ैल शंभु अंकल के घर आती है शंभु अंकल कहते है मैं तुझे एडमिट करवा के आया था और तू 

फिर घर चली आई चुड़ैल ने कहा मेरा वहाँ मन नहीं लगा इसलिए मैं गयी, 


आपने अपने बाजू में ये क्या बाँध रखा है उतार कर दूर फेको इसे, चुड़ैल ताबीज उतरवाने के लिए जिद्द करती

है पर शंभु अंकल के मना करने पर वह जैसे ही वापस जाने को पलटती है,


शंभु अंकल सुई उसके कपड़े में फसा देते है ऐसा करते ही शंभु अंकल बेहोश हो जाते है, सवेरे के 4 बजते है 


पापा और राबुला अंकल शंभु अंकल का दरवाजा खटखाते है और शंभु अंकल को दरवाजा खोलने को कहते 

है दरवाजा नहीं खोलने पर मौलवी जी कहते है अभी समय नहीं हुआ है शंभु को होश 5 बजे आएगा जैसा 

मौलवी जी ने कहा ठीक वैसा ही हुआ 5 बजे संभु अंकल को होश आया और उन्होंने दरवजा खोला उनको 

सही सलामत देख के सारे खुश हो जाते है।

फिर अचानक से मौलवी जी ने कहा सुई में फिरोया धागा ढूँढो घर के बाहर थोड़ी दूर आगे धागा मिलता है,

धागे का रोल खुला होता है धागे को लपेटते हुए पापा, राबुला अंकल, रमेश अंकल और मौलवी जी आगे बढ़ते है

धागा थोड़ी ही दूर एक मंदिर के पास वाले बरगद के पेड़ से लिपट कर कुआँ के आगे एक खेत में दबा हुआ था
मौलवी जी उस जगह को खोदने के लिए कहते है, जमीन को खोदते समय उस जगह से हड्डी का टुकड़ा 

निकलता है जो खून की तरह लाल और ताजा था,


मौलवी जी उस हड्डी को झाड़फूंक करते समय कुछ ऐसी बात बताते है जिसे सुन कर सभी हैरान हो जाते है,

मौलवी जी कहते है ये एक बुरी शक्ति थी जो आप लोगों के बीच रूप बदल कर काफी पुराने समय से रह रही 

थी, ये बात सुन कर पापा और रमेश अंकल को उनके साथ घटी एक घटना याद आती है जो उन्होंने सोचा भी 

नहीं था कि उसका कनेक्शन इसके साथ था,


मैं आप सभी दोस्तों के साथ अगली बार उस घटना को ज़रूर शेयर करूँगा, मौलवी जी उस हड्डी को अपने 

साथ कांच की बोतल में डाल के ले जाते है और जातेजाते सभी के रूम को पवित्र कर जाते है।


दोस्तों आपको क्या लगता है क्या सच में वह चुड़ैल थी जो शंभु अंकल के गाड़ी से गुजरी थी या सिर्फ़ उनका 

एक वहम था आप कमेंट करके हमे अपनी राय ज़रूर बताये।
दोस्तों इस स्टोरी को पढ़ने के लिए आपका बहुतबहुत धन्यवाद, DARKSIDE-DEVILS-Real Ghost 

Stories बहुत जल्द आपके लिए एक और सच्ची घटना पर आधारित कहानी ले कर वापस आयेगा। …




Leave a Reply

Top